यूपी ब्लॉक प्रमुख चुनाव: कई जिलों में हंगामा, इटावा में एसपी को मारा थप्पड़, उन्नाव में पत्रकार से मारपीट

उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव में मतदान के दौरान की जिलों में जमकर हंगामा हुआ है। इटावा जिलें पुलिस अक्षीधक को एक नकाबपोश ने थप्पड़ मार दिया तो उन्नाव में पत्रकार की पिटाई पर विवाद शुरु हो गया है।

यूपी ब्लॉक प्रमुख चुनाव: कई जिलों में हंगामा, इटावा में एसपी को मारा थप्पड़,  उन्नाव में पत्रकार से मारपीटउन्नाव में पत्रकार से मारपीट।

उन्नाव/ लखनऊ। उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान कई जिलों में जमकर हंगामा हुआ है। पथराव, धक्कामुक्की, लाठीचार्ज के वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहे हैं। विपक्ष पार्टी ने कई जगह पर पुलिस और सत्ताधारी पार्टी पर मारपीट का आरोप लगाया है। इटावा जिले में मतदान के दौरान बढ़पुर ब्लॉक में जमकर हंगामा हुआ। फायरिंग और हथगोले फेंके गए। इस दौरान पुलिस को हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। इसी बीच पुलिस और भीड़ में धक्कामुक्की हुई, जिसमें एक नकाबपोश युवक ने एसपी को तमाचा मार दिया। वहीं उन्नाव जिले के मियांगंज में एक पत्रकार से मारपीट हुई है।

इंडिया न्यूज के पत्रकार कृष्णा तिवारी ने मीडिया से बातचीत में कहा, "मियांगज में कवरेज करने आए थे, मैं यहां मतगणना स्थल पर खड़ा था। यहां अलग-अलग पार्टियों के कार्यकर्ता टहल रहे थे, पुलिस उन्हें नहीं पकड़ पा रही है। सीडीओ साहब आए और हमसे धक्कामुक्की करने लगे। उनके साथ सीओ साहब भी थे। मारपीट की। गालियां दे रहे थे। मेरा नाखून फट गया। अगर कोई सिपाही मारपीट करता तो मैं समझता कि वो मुझे नहीं पहचान पाया। कुछ बीजेपी के कार्यकार्ताओं ने भी मुझसे मारपीट की है।"

इससे पहले कृष्णा तिवारी ने अपने दोनों फोन दिखाते हुए कहा कि मेरे फोन तोड़े गए हैं। स्थानीय मीडिया कर्मियों के मुताबिक उन्नाव में इंडिया न्यूज के पत्रकार कृष्णा तिवारी के अलावा न्यूज 18, न्यूज नेशन के कैमरामैन के साथ भी बदसलूकी और धक्का मुक्की हुई है। इसके अलावा एक राष्ट्रीय अखबार के पत्रकार के साथ भी मारपीट हुई है।

साथी पत्रकार के साथ मारपीट के बाद उन्नाव के पत्रकार धरने पर बैठ हैं। जिसके बाद जिलाधिकारी और एसपी उन्नाव पत्रकारों से बातचीत को पहुंचे हैं। धरनारत पत्रकार सीडीओ दिव्यांशु पटेल और बीजेपी के आरोपी कार्यकर्ताओं पर रिपोर्ट दर्ज करने की मांग कर रहे हैं।

बाद में मीडिया से बात करते हुए जिलाधिकारी रवींद्र कुमार ने कहा कि पत्रकार कृष्णा तिवारी मामले में हमने पत्रकार साथियों से बात की है। सीडीओ ने भी घटना पर माफी मांगी है। उन्होंने कहा, पत्रकार के द्वारा प्रार्थना पत्र है। मैं सभी पत्रकारों को भरोसा दिलाता हूं इस पर प्रार्थना पत्र की जांच कराउंगा और बिल्कुल निष्पक्ष कार्रवाई होगी।"

पत्रकार तिवारी के साथ मारपीट के वायरल वीडियो में दिखे बीजेपी कार्यकर्ता के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि, उसे पकड़ लिया गया है और विधि सम्मत कार्रवाई होगी।"

इटावा में फायरिंग और चले हथगोले, एसपी को मारा थप्पड़

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान 8 जुलाई को ब्लॉक प्रमुख के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन हुए थे। जिसके बाद 10 जुलाई (शनिवार) को मतदान और मतगणना हुई। इस दौरान इटावा, चंदौली, अमरोहा, उन्नाव, बाराबंकी, अयोध्या, रायबरेली, सुल्तानपुर समेत कई जिलों से हंगामे की खबरें आई हैं। कई जगहों पर बीजेपी और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता आपस में भिड़े तो कई जगहों पर भीड़ और पुलिस में भिड़ंत हुई।

इटावा जिले के बढ़पुर ब्लॉक में सपा और बीजेपी प्रत्याशी दोनों को 37-37 वोट मिले थे। जिसके बाद पर्ची डालकर चुनाव हुआ। टाई मुकाबले में भारतीय जनता पार्टी के गणेश राजपूत को ब्लॉक अध्यक्ष घोषित किया गया। इससे पहले मतदान के दौरान बढ़पुर में जमकर हंगामा हुआ। फायरिंग और हथगोले फेंके गए। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग तक करनी पड़ी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस बीच पुलिस और भीड़ आमाने सामने आ गए। भिडंत के दौरान एक नकबापोश ने एसपी सिटी प्रशांत कुमार को थप्पड़ मार दिया। जिसके बाद पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने लिए बल प्रयोग किया।

मामले को लेकर इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार सिंह ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, "कुछ लोग वोटिंग केंद्र के नजदीक आ गए। पुलिस ने उन्हें रोका तो उन्होंने फ़ायरिंग और पत्थरबाजी शुरू की। एक व्यक्ति ने एसपी को थप्पड़ भी मारा। हम मामले की जांच कर रहे हैं।"

खबर अपडेट की जा रही है

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.