सीतापुर-बाराबंकी में सीएम ने करोड़ों रुपए की योजनाओं का किया शिलान्यास, कहा-साढ़े चार साल के कार्यकाल में ना कोई दंगा, ना भेदभाव

सीएम योगी ने बुधवार को सीतापुर और बाराबंकी में जनसभाओँ को संबोधित करते हुए कहा पहले गरीबों का राशन सैफई जाता था या हाथी खा जाता था, हमारी सरकार में गरीबों का हक सीधे उनको मिल रहा है। 2017 में मेरी सरकार बनी मैंने 86 लाख किसानों का 26 हजार करोड़ रुपये का कर्ज माफ़ किया।

सीतापुर-बाराबंकी में सीएम ने करोड़ों रुपए की योजनाओं का किया शिलान्यास, कहा-साढ़े चार साल के कार्यकाल में ना कोई दंगा, ना  भेदभाव

यूपी के बाराबंकी में विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को चेक देते सीएम योगी आदित्यनाथ। 

सीतापुर/बाराबंकी (उत्तर प्रदेश)। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जिलों में ताबड़तोड़ दौरे जारी हैं। एक तरफ जहां करोड़ों रुपए की योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास हो रहे किए जा रहे हैं वहीं सीएम अपनी सरकार की साढ़े चार साल की उपलब्धियां भी गिना रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीतापुर में नैमिषारण्य की पावन भूमि को नमन करते हुए कहा कि नैमिषारण्य हजारों वर्षों की विरासत को संजोए हुए है, जब दुनिया अंधकार में जी रही थी तब यहां 88 हजार ऋषियों ने तप कर ज्ञान का प्रकाश को सभी ओर प्रसारित किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को सीतापुर के सिधौली विधानसभा क्षेत्र में श्रीगांधी डिग्री कॉलेज मैदान पर जनसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार साढ़े 4 साल के कार्यकाल में 4.50 लाख लोगों को नौकरी दी है।

सीतापुर में जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री ने करीब 484.41 करोड़ों रुपए की लागत वाली 167 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी किया। तमाम जनकल्याणकारी योजनाओं में लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र, चांबियां बांटी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले के चार किसानों को फार्म मशीनरी बैंक की चाभियां सौंपी। इस अवसर पर खाले गड्ढी के किसान किशोरी लाल ने फार्म मशीनरी बैंक की चाभी पाकर कहा, "पहले की सरकारों में जाति देख के मिलता था सरकारी योजनाओं का लाभ। आज भाजपा सरकार में हम गरीब और आम किसानों को कृषि विभाग की योजनाओं का लाभ मिल रहा है।"

जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि उनकी सरकार में किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं किया जा रहा है। जितनी बिजली रामपुर को मिल रही है, उतनी ही बिजली सीतापुर जिले को भी मिल रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा, "हमने दंगाइयों को खुली चेतावनी दे रखी है कि जो सार्वजनिक संपत्ति को क्षति करते हैं, गरीबों, कमजोरों को सताते हैं, उनको ऐसी सजा दी जाएगी कि उनकी सात पीढ़ियां भी थक जाएंगी लेकिन, भुगतान नहीं कर पाएंगी।"

उन्होंने कहा, "यूपी में सुरक्षा का माहौल है। पिछले साढ़े चार साल में कोई दंगा भी नहीं हुआ है। प्रदेश से अपराध मुक्त हो चुका है, महिलाएं आज पूरे सम्मान के साथ बाहर आ जा रही हैं। भय मुक्त वातावरण में सभी त्यौहार मनाए जा रहे हैं। पहले या प्रदेश भ्रष्टाचार के लिए जाना जाता था।"

इस दौरान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा, "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संत का जीवन जीते हैं। उनकी सरकारी गाड़ी पर उनके परिवार वाले नहीं घूमते है। योगी-मोदी की सरकार न खायेगी न किसी को खाने देगी। जनता का हक सीधे मिलेगा।"

बाराबंकी में 340 करोड़ की ब्रिटानियां कंपनी की ईकाई का शिलान्यास

वहीं सीतापुर से सटे बाराबंकी जिले में भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने जनपद में बाराबंकी में 148.85 करोड़ रुपए की लागत से 186 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इसके अलावा बाराबंकी में ब्रिटानिया लिमिटेड की 340 करोड़ रुपए लागत की बिस्किट एवं बेकरी निर्माण की इकाई के शिलान्यास हुआ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद बाराबंकी 02 बातों के लिए महत्वपूर्ण है। पहली यह कि बाराबंकी के बाद से भगवान श्रीराम की धरती प्रारम्भ हो जाती है। यह जनपद राम राज्य का द्वार है। दूसरा बाराबंकी के किसानों ने अपने परिश्रम और पुरुषार्थ से यहां की कृषि को नई ऊंचाइयां प्रदान की हैं।

मुख्यमंत्री ने दिए चेक और योजनाओं के स्वीकृति पत्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यहां ब्रिटानिया लिमिटेड की बिस्किट एवं बेकरी निर्माण की इकाई का शिलान्यास भी सम्पन्न हुआ है। इस परियोजना की लागत 340 करोड़ रुपये है। उन्होंने कहा कि विकास की इन योजनाओं के माध्यम से जनपदवासियों के जीवन में व्यापक बदलाव और आमूल-चूल परिवर्तन आएगा, जो उनके जीवन को खुशहाल बनाने में सहायक होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि 500 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण का कार्य बाराबंकी जनपद में सम्पन्न हो रहा है। इसमें सड़क, हास्पिटल, ग्रामीण विकास, शहरी विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वावलम्बन, पर्यटन से सम्बन्धित यह परियोजनाएं रोजगार की व्यापक सम्भावनाओं को आगे बढ़ाने वाली हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में इस प्रकार की कई अन्य परियोजनाएं जनपद बाराबंकी में आयेंगी। इससे जनपद बाराबंकी विकास की नई ऊंचाइंयों पर पहुंचेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार की पहल, इच्छाशक्ति, पारदर्शिता और ईमानदारी से विगत साढ़े चार वर्षों में साढ़े चार लाख लोगों को सरकारी नौकरी प्रदान की गई। इस साढ़े चार वर्ष के दौरान निजी क्षेत्र में 03 लाख करोड़ का निवेश हुआ और 01 करोड़ 61 लाख लोगों को रोजगार मिला। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, एक जनपद एक उत्पाद, विश्वकर्मा सम्मान योजना आदि योजनाओं के माध्यम से लोगों को रोजगार के साथ जोड़ने का कार्य भी उत्तर प्रदेश सरकार ने किया है।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान बच्चों का अन्नप्राशन किया। पोषण पोटली, प्रधानमंत्री आवास योजना की चाभी, आसरा योजना में सामूहिक आवंटन पत्र, सामुदायिक शौचालय संचालन हेतु धनराशि का चेक, एक जनपद एक उत्पाद योजना के वित्त पोषण हेतु चेक, टूलकिट, पुत्री विवाह अनुदान योजना में स्वीकृति पत्र, उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में स्वीकृति पत्र, आयुष्मान भारत योजना में गोल्डन कार्ड तथा कोविड-19 से दिवंगत कर्मचारियों के परिजनों को एक मुश्त अनुग्रह धनराशि का चेक, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत स्वीकृत पत्र सहित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के स्वीकृति पत्र व चेक वितरित किए।

कार्यक्रम को वन मंत्री दारा सिंह चौहान तथा विधान परिषद सदस्य स्वतंत्र देव सिंह ने भी सम्बोधित किया।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.