बजट 2021: क्या सस्ता हुआ, क्या महंगा? एक क्लिक में देखें पूरी लिस्ट

बजट 2021-22 देश की संसद में पेश हो चुका है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई क्षेत्रों के लिए बड़ी घोषणाएं की हैं, लेकिन बजट आने के बाद लोगों में यह जानने की भी उत्सुकता रहती है कि अब क्या सस्ता होगा, क्या महंगा होगा, तो आइये पूरी लिस्ट देखते हैं।

union budget 202, mehnga aur sasta, bhartiya budget 2021, central budget, kendriya budgetबजट 2021-22 के बाद क्या सस्ता होगा, क्या महंगा होगा, पूरी लिस्ट देखें

देश का आम बजट 2021-22 पेश हो चुका है। जब बजट पेश होता है तो बहुत से लोगों की नजर इस पर भी रहती है कि अब क्या सस्ता होगा और किसके लिए जेब ढीली करनी होगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार एक फरवरी को देश का आम बजट पेश किया। बजट से जहां मोबाइल फोन और चार्जर, ऑटो पार्ट्स और सिल्क उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी होगी तो वहीं वहीं सोने-चाँदी, स्टील, लोहा, नायलॉन के कपड़े आदि की कीमतों में कमी भी आएगी।

वित्‍त मंत्री ने बजट पेश करते समय सोने और चाँदी पर कस्टम ड्यूटी कम करने का संकेत दिया है इससे इनकी कीमतों में कमी आएगी, जबकि मोबाइल के कुछ पार्ट्स पर सीमा शुल्क बढ़ेगा जिस कारण ये उपकरण महंगे होंगे।

ये चीजें होंगी महंगी

इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद

मोबाइल फोन

मोबाइल फोन चार्जर

आयातित रत्न (कीमती पत्थर)

चमड़े के उत्पाद

आयातित ऑटो पार्ट्स

सिल्क उत्पाद

पेट्रोल-डीज़ल

सोलर सेल

ये बजट का छोटा सा हिस्सा है। यहां जो लिस्ट दी गई है उसकी जानकारी यहां से जुटाई गई है https://pib.gov.in/PressReleseDetailm.aspx?PRID=1693907

ये होगा सस्ता

सोना-चांदी

इस्पात (स्टील)

लोहा

नायलॉन वस्त्र

तांबे की वस्तुएं

बीमा

बिजली

स्टील के बर्तन

पेंट

ड्राई क्लीनिंग सस्ता होगा

बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मुफ्त रसोई गैस योजना (उज्ज्वला) का विस्तार किया जाएगा और एक करोड़ और लाभार्थियों को इसके दायरे में लाया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान ईंधन की अबाधित आपूर्ति जारी रखी गई।

वित्त मंत्री ने 2021-22 के लिए स्वास्थ्य और कल्याण के क्षेत्र के लिहाज से 2,23,846 करोड़ रुपए के बजट का प्रस्ताव रखा है। इसमें मौजूदा वित्त वर्ष के 94,452 करोड़ रुपए के बजट परिव्यय की तुलना में 137 प्रतिशत का इजाफा प्रस्तावित है।

Updating...

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.